british governor generals and viceroy of india

British Governor Generals and Viceroys in India

British Governor Generals and Viceroy of India

भारत में ब्रिटिश गवर्नर जनरल / वाइसराय

General Awareness को प्रतियोगी परीक्षा (competitive exams) का एक अभिन्न अंग माना जाता है। History से लेकर polity तक, General Science, Physics, Biology, हमारे संविधान (constitution) , अर्थव्यवस्था (economy) , banks और लगभग सभी चीजों के बारे में जो भी तथ्य होते है उनसे SSC Exams हो या Railway Exams सभी में British government से प्रश्न पूछे जाते है। SSC Exams या RRB Exams के छात्र होने के नाते आपको भारत के सभी British Governor Generals / Viceroy of India  की सूचि निचे के सारणी में दी गयी है जिसमे इन  British Governor Generals और Viceroy of India अर्थात British government के बारे महत्वपूर्ण घटनाओ का भी जिक्र किया गया है जो आपके के लिए मददगार सिद्ध होगी।

British governor generals

Governor General/Viceroy

Period

Important Points

वारेन हेस्टिंग्स

Warren Hastings

British Governor Generals

1774 – 1785 भारत में प्रथम गवर्नर जनरल (First British Governor General)। (उन्हें फोर्ट विलियम के गवर्नर जनरल के रूप में नियुक्त किया गया था, लेकिन उन्होंने पूरे भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी के अधिकारियों पर नियंत्रण का प्रयोग किया।) उन्हें इंग्लैंड में उनके गलत कामों, अर्थात् रोहिल्ला युद्ध, परीक्षण और नंद कुमार के निष्पादन के लिए महाभियोग लगाया जाना तथा राजा चैत सिंह और अवध की बेगमों का मामला।
लॉर्ड कार्नवालिस

Lord Cornwallis

British Governor Generals

1786 – 1793 स्थायी बंदोबस्त (Permanent Settlement), राजस्व को ठीक करने के लिए ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाली जमींदारों के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे।
लॉर्ड वेलेजली

Lord Wellesley

British Governor Generals

1798 – 1825 उन्होंने सहायक संधि (Subsidiary Alliance) की शुरुआत की, जिसके तहत भारतीय शासक ब्रिटिश सेना को अपने क्षेत्र में रखने के लिए सहमत हुए। सहायक संधि को स्वीकार करने वाला पहला राज्य हैदराबाद राज्य था।
लॉर्ड विलियम बेंटिक

Lord William Bentinck

1828 – 1835 सबसे पहले 1828 में भारत के British Governor Generals के रूप में नामित होने के लिए। उन्होंने सती प्रथा का विरोध किया और भारत में अंग्रेजी शिक्षा की शुरुआत की।
लॉर्ड डलहौज़ी

Lord Dalhousie

1848 – 1856 इन्होने कुख्यात ‘राज्य हड़प की निति / व्यपगत  की  निति ‘ (Doctrine of Lapse) की शुरुआत की। उन्होंने रेलवे और टेलीग्राफ को भी भारत में लाया। उन्हें आधुनिक भारत के निर्माता के रूप में भी जाना जाता है।
लॉर्ड कैनिंग

Lord Canning

1856 – 1862 1857 के विद्रोह के दौरान वह British Governor Generals थे। उन्हें युद्ध के बाद पहला वायसराय नियुक्त किया गया था।
लॉर्ड मेयो

Lord Mayo

1869 – 1872 ये भारत के वायसराय थे, जिन्हें अंडमान द्वीप समूह के एक अपराधी ने मार डाला था। इनके द्वारा भारत की पहली जनगणना आयोजित की गई थी जिसमें भारत के कुछ क्षेत्रों को शामिल नहीं किया गया था।
लॉर्ड लिटन

Lord Lytton

1876 – 1880 दिल्ली दरबार या इम्पीरियल दरबार जिसमें रानी विक्टोरिया को कैसर-ए-हिंद घोषित किया गया था, जो 01 जनवरी 1877 को हुई थी। वर्नाकुलर प्रेस एक्ट (1878) भारतीय समाचार पत्रों के बेहतर नियंत्रण के लिए इनके कार्यकाल में पारित किया गया था।
लॉर्ड रिपन

Lord Rippon

1880 – 1884 इन्होने शासन की दोहरी प्रणाली (dual system) शुरू की। भारत में ब्रिटिश शासित प्रदेशों की पहली और समकालिक जनगणना 1881 में हुई थी। वह इल्बर्ट बिल के साथ भी जुड़े थे, जिसने भारतीय न्यायाधीशों को ब्रिटिश अपराधियों के लिए कोशिश करने की अनुमति दी थी। उन्हें भारत में स्थानीय स्वशासन ( Local Self Government) के पिता के रूप में जाना जाता है।
लॉर्ड डफ़रिन

Lord Dufferin

1884 – 1888 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का गठन इनके काल में हुआ था।
लॉर्ड कर्ज़न

Lord Curzon

1899 – 1905 बंगाल का विभाजन (Partition of Bengal) और स्वदेशी आंदोलन (Swadeshi Movement) की शुरूआत।
लॉर्ड हार्डिंग

Lord Hardinge

1910 – 1916 1911 में अपने कार्यकाल के दौरान भारत की राजधानी को कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरित कर दिया गया। इंग्लैंड के राजा जॉर्ज वी ने 1911 में दिल्ली दरबार में भाग लेने के लिए भारत का दौरा किया। उनके जीवन की हत्या का प्रयास रास बिहारी बोस और अन्य ने मिलकर किया।
लॉर्ड चेम्सफोर्ड

Lord Chelmsford

1916 – 1921 1919 की जलियांवाला बाग त्रासदी  इनके काल में हुई। मांटेग्यू चेम्सफोर्ड सुधार, रौलट एक्ट, खिलाफत आंदोलन  इनके काल से जुड़ी अन्य घटनाएँ हैं।
लॉर्ड रीडिंग

Lord Reading

1921 – 1926 चौरी चौरा की घटना इनके काल में हुई। महात्मा गांधी को पहली बार भारत में कैद किया गया था।
लॉर्ड इरविन

Lord Irwin

1926 – 1931 उनके काल प्रथम गोलमेज सम्मेलन, साइमन कमीशन, गांधी इरविन समझौता और प्रसिद्ध दांडी मार्च के साथ जुड़ा हुआ है।
लॉर्ड विलिंगडन

Lord Willingdon

1931 – 1936 दूसरा और तीसरा गोलमेज सम्मेलन उनकी अवधि के दौरान हुआ था। सांप्रदायिक पुरस्कार (Communal award) ब्रिटिश पीएम रामसे मैकडोनाल्ड द्वारा दिया गया था और महात्मा गांधी और डॉ. अंबेडकर के बीच पूना पैक्ट पर हस्ताक्षर किए गए थे।
लॉर्ड लिनलिथगो

Lord Linlithgow

1936 – 1943 क्रिप्स मिशन ने भारत का दौरा किया और उनके कार्यकाल के दौरान भारत छोड़ो प्रस्ताव पारित किया गया।
लॉर्ड वेवेल

Lord Wavell

1943 – 1947 शिमला सम्मेलन और कैबिनेट मिशन उनके काल से जुड़े हैं।

Now You can Answer these type of Questions which is given below.

Q1 Who was the last British governor general?
Q2 who were the first and the last governor generals of British India?
Q3 who was the last governor general of British India?
Q4 who was the first viceroy of India?
Q5 Who was the last viceroy of India?
[If You want a MCQ Test for this Topic, Please Comment. I will do]

FREE SSC EXAM PRACTICE SET⇓

 1
 2
 3
 4
 5
 6
 7
 8
 9
10
11
 12
 13
14
 15
16
17
18
19
20

Subscribe Our YouTube Channel To Get Tricky Video Notifications > study corner gk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *